राज्य के लिए प्रेरणास्रोत बनी एसडीएम श्वेता सुहाग

समाचार निर्देश  खरखौदा (रोहित शर्मा) – 
                          *दहिया खाप का इतिहास समेटे है सिसाना*
सिसाना गाँव  सदियों से दहिया खाप के इतिहास को समेटे हुए है।दहिया खाप में स्वर्गीय प्रधान रामफल दहिया सबसे लोकप्रिय रहे है। प्रदेश में शराबबंदी दहिया खाप की ही देन थी।  सदियों से सिसाना गाँव समाज मे की गई अपनी ऐतिहासिक पहलों के लिए जाना जाता है। देश पर आए इस कोरोना संकट के समय मे भी सिसाना गाँव ने अनोखी पहल की है।जहां दहिया खाप जरूरतमंदों के लिए राशन मुहैया कर रही रही है वही अब गाँव सिसाना ने एसडीएम स्वेता सुहाग के माध्यम से कोरोना राहत कोष में 61 हजार रुपये और 75 किवंटल गेहूँ दिए है। ताकि और लोग भी गरीबों और जरूरतमंदों की राशन सम्बन्धी पूर्ति के लिए आगे आ सके। यह धनराशि और अनाज गाँव सिसाना में संयोजकर्ता के रूप में जग्गी नम्बरदार, बनी सिंह, डॉ धर्मबीर फ़ौजी और उनके साथियों ने इक्कठी की।
*अनुशासन, सहयोग और समर्पण की मूर्ति है एसडीएम स्वेता सुहाग* इस अवसर पर पूर्व सरपंच सिसाना कृष्ण प्रधान ने बताया कि खरखौदा एसडीएम स्वेता सुहाग हर कदम पर पर अपना बढ़-चढ़कर सहयोग दे रही है। इस अफरा-तफरी के माहौल में हर कदम पर जनता के साथ उनकी सूझबूझ और समझदारी का तालमेल देखते ही बनता है। एसडीएम स्वेता ने क्षेत्र में पुलिस बल के माध्यम से बेहद प्रभावी ढंग से लोकडाउन को लागू करवाया है और जिन लोगों को राशन-पानी की जरूरत  है उनकी मदद के लिए आगे आई दहिया खाप और अन्य सामाजिक संगठनों को मिलाकर  एक ऐसी इंस्पेक्शन टीम का गठन किया है जिससे मुसीबत की इस घड़ी में उन्हीं लोगों के पास राशन पहुंच सके जिन्हें वास्तव में राशन की जरूरत है। एस डी एम स्वेता सुहाग ने शहर और गाँव मे हर कड़ी को इस तरह से व्यवस्थित कर रखा है जिससे लोगों की जरुरती चीजों की आपूर्ति भी हो सके और लोग सुरक्षित भी रह सके। इस तरह यह कहने में कतई अतिशयोक्ति नही होगी कि हमारे क्षेत्र को बेहद समझदार और दूरदर्शी नजरिया रखने वाली अफसर मिली है। एसडीएम स्वेता सुहाग का काम करने का तरीका वाकई में काबिल ए तारीफ है। यह हमारे खरखौदा क्षेत्र का सौभाग्य है।
                     *जनता की भावनाओं को बख़ूबी समझती है एसडीएम स्वेता*
एक्स चेयरमैन जयभगवान चक्की वाले ने उदाहरण देते हुए बताया कि एसडीएम स्वेता ने इस बीच दूसरे राज्यों के फँसे हुए लोगों की भी मदद की है। जो लोकडाउन में यहाँ शादी समारोह में फंस गए और अपने घर पहुंचना उनके लिए चुनौती बन गयी। उनके पशु भूखे और बेसहारा हो गए थे ।एसडीएम स्वेता ने इसे अपनी जिम्मेदारी समझा और उन्हें उनके घर तक पहुंचाया। ज्ञात रहे एक्स चेयरमैन जय भगवान ने जरूरतमन्दों के लिए मुफ्त में अपनी चक्की से गेहूँ की पिसाई कर अपना सहयोग दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

समाचार निर्देश न्यूज़पेपर के लिए आवश्यकता है पूरे भारत के सभी जिलो से अनुभवी ब्यूरो चीफ, पत्रकार, कैमरामैन, विज्ञापन प्रतिनिधि की। आप संपर्क करे मो० न० 9654140328
%d bloggers like this: