कांवड़ यात्रा से पहले जान ले यह जरूरी जानकारी

समाचार निर्देश रोहतक संजय पांचाल – इस साल आप कांवड़ लेने जाने की सोच रहे हैं तो यह ख्याल दिल से निकाल दें। चूंकि हरिद्वार की सीमा में प्रवेश करते ही आपको 14 दिन क्वारंटीन रहना होगा। यही नहीं इन 14 दिनों में जो खर्च आएगा वह भी आप से ही वसूला जाएगा। इसके अलावा आदेश न मानने पर कानून कार्रवाई का भी प्रावधान है। यह आदेश उत्तराखंड सरकार और हरिद्वार प्रशासन ने जारी किए हैं। वहीँ हरियाणा के साथ लगते जिलों के प्रशासन को दिशा निर्देश दे दिए गए हैं।   प्रशासन को भी अपने सभी बार्डर सील करने को कहा गया है। यह निर्णय तेजी से बढ़ रहे कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए लिया गया है। इसी के चलते इस बार कांवड़ यात्रा पर पूरी तरह प्रतिबंध लगा दिया गया है। किसी भी प्रकार की कांवड़ इस बार नहीं लाई जा सकेगी।कांवड़ यात्रा पर प्रतिबंध लगाने व सीमाएं सील करने को लेकर प्रशासन व पुलिस के आला अधिकारियों की बैठक हुई। जिसमें इसे रोकने के लिए रणनीति तैयार की गई। वहीं सभी अधिकारियों को ड्यूटियां सौंपी गई हैं। हरिद्वार प्रशासन की ओर से कहा गया कि हरियाणा प्रशासन किसी को भी कांवड़ यात्रा की अनुमति न दें। वहीं कोई बिना अनुमति के हरिद्वार आता है तो उसे 14 दिन क्वारंटीन कर दिया जाएगा। भले ही उसमें कोविड-19 के लक्षण न हो। क्वारंटीन के दौरान आने वाला पूरा खर्च भी व्यक्ति से वसूला जाएगा। हरियाणा से करीब दो लाख से ज्यादा शिवभक्त कांवड़ लेने हरिद्वार जाते हैं। वहीं करीब सात से आठ लाख कांवड़िए यमुनानगर या शामली से होकर दूसरे राज्यों को जाते हैं। वहीं कुछ विशेष तरह की कांवड़ के लिए प्रशासनिक अनुमति ली जाती है। लेकिन हरिद्वार प्रशासन से हुई बैठक में इस साल किसी को भी कांवड़ के लिए अनुमति न देने पर सहमति बनी है। हरिद्वार प्रशासन की ओर से यात्रा पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। वहीं हरियाणा  प्रशासन इसके लिए अलर्ट हो गया है।  किसी भी दुकान पर कांवड़ यात्रा संबंधी सामान नहीं बिकेगा। यात्रा संबंधी कांवड़ियों की वर्दी, बैग बेचने पर पाबंदी लगा दी गई हैं। वहीं इसके लिए डीजे इत्यादि देने वाले पर भी कार्रवाई की जाएगा। ऐसा सभी सामान जब्त कर लिया जाएगा। छह जुलाई से सावन की शुरुआत होगी। कोरोना के चलते प्रशासन की ओर से यमुनानगर से उत्तर प्रदेश, हिमाचल, उत्तराखंड सहित अन्य जिलों से लगती सभी सीमाएं पांच जुलाई को ही बंद कर दिया जायेगा। प्रशासन व पुलिस की ओर जागरूकता अभियान चलाया जाएगा। इसके लिए सभी गांवों में मुनादी करवाई जाएगी। वहीं गांव के लोग कांवड़ लेने न जाए इसके लिए सभी सरपंचों की भी जिम्मेदारी लगाई जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

समाचार निर्देश न्यूज़पेपर के लिए आवश्यकता है पूरे भारत के सभी जिलो से अनुभवी ब्यूरो चीफ, पत्रकार, कैमरामैन, विज्ञापन प्रतिनिधि की। आप संपर्क करे मो० न० 9654140328
%d bloggers like this: