कोरोना काल में सावधानी व सतर्कता जरूरी, लॉकडाउन करने की सरकार की कोई मंशा नहीं, इस स्थिति में सभी प्रदेशवासियों के सहयोग की जरूरत, कोरोना को पैनिक नहीं, आपसी तालमेल से हराना होगा: सीएम मनोहर लाल

* मुख्यमंत्री ने वीसी के माध्यम से कोरोना को लेकर जिला उपायुक्तों के साथ की बैठक, दिए आवश्यक दिशा-निर्देश
समाचार  निर्देश जुुुबैर खान नूंह –  मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने जिला उपायुक्तों के साथ वीडियो कांफ्रैसिंग कर कहा कि प्रदेश में सरकार का लॉकडाउन लागू करने की कोई मंशा नहीं है, क्योंकि इससे आर्थिक गतिविधियां रूक जाती हैं, लेकिन कोरोना के बढ़ते केसों से आमजन को बचाने के लिए सावधानी, सतर्कता और अपील जारी रखें। इस बारे समय-समय पर जारी एडवाईजरी की लोगों को जानकारी दें और उसका पालन भी सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि सभी विभाग विशेषकर स्वास्थ्य व शहरी निकाय इंतजामों के साथ-साथ सैंसिटाईजेशन बढ़ाएं और कोरोना पर काबू पाने के लिए गंभीरता से कार्य करें। बुधवार को अचानक कोरोना के केस 5 हजार से ज्यादा आने पर उन्होंने चिंता जताते कहा कि यह पीक का आंकड़ा है, लेकिन आम लोगों में कोरोना को लेकर भय की स्थिति न फैले, इसके लिए प्रदेश का आपदा प्रबंधन विभाग आज ही एक एडवाईजरी करने जा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि लोगों की भीड़ से कोरोना फैलने का खतरा ज्यादा बना रहता है, ऐसे में सरकार की ओर से इन्डोर में 50 और खुले में 200 लोगों की एसेम्बली के लिए जारी एडवाईजरी का जिला प्रशासन पूरी तरह से पालन करवाएं। विवाह-शादी के कार्यक्रम भी चल रहे हैं, उपायुक्त लोगों को समझाएं कि ऐसे कार्यक्रमों को बदलकर रात की बजाए दिन में कर लें तो अच्छा रहेगा, अन्य कार्यक्रमों में भी बंधन रखें। रैडक्रास सोसाईटी के पास एक्टिव मशीनरी और वॉलिंटियर हैं, उन्हें डिप्यूट रखें। गंभीरता दिखाएं, सख्ती ठीक है लेकिन अपील से काम लें। मुख्यमंत्री ने धरने प्रदर्शन करने वालों से भी अपील कर कहा कि मौजूदा समय मानवता के बचाव के लिए है। किसी को भी धरने प्रदर्शन करने की मनाही नहीं है लेकिन समय के हिसाब से चलना चाहिए। उन्होंने उपायुक्तों से कहा कि कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए बाहर से आने वाले लोगों पर खास नजर रखें। कन्टेनमेंट जोन के साथ माईक्रो कन्टेनमेंट जोन भी बनाएं। वीसी में बोलते सीएम ने मौजूदा गेहंू खरीद प्रक्रिया पर भी अपनी बात कही और जोर दिया कि कईं जिलों में उठान प्रक्रिया धीमी चल रही है, इसे बढ़ाएं, चाहे मंडियों में आवक को कम करें। इस काम में जितनी भी टीमें लगी हैं उनको तेज करें। अभी गेहंू की आवक भी पीक पर है, यदि अतिरिक्त खरीद केन्द्र बनाने पड़ें तो बना लें इसके लिए कोई राईस मिल, पक्का ग्राऊंड, शैड और स्कूलों में उपलब्ध जगह भी हो सकती है। वीसी में मौजूद प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने भी जिलों के प्रशासनिक अधिकारियों को कांफ्रैंसिंग के जरिए संबोधित किया। उन्होंने कहा कि कोरोना को लेकर अभी प्रदेश कठिन दौर से गुजर रहा है। इसे रोकने के दो तरीके यानि लॉकडाउन व सख्ती है। लॉकडाउन हम नहीं चाहते लेकिन जिंदगी चलती रहे और बचती रहे इसके लिए सख्ती जरूरी है। लोगों को बचाने के लिए उनकी नाराजगी झेल सकते हैं। उन्होंने कहा कि प्रशासन कोरोना से बचाव के सभी तरीके मास्क, दो गज दूरी, सैनिटाईजेशन को पूरी सख्ती से लागू करवाएं। स्वास्थ्य विभाग की ओर से सभी इंतजाम पर्याप्त हैं, सबके सामूहिक सहयोग से कोरोना की लड़ाई को जीतेंगे। उन्होंने उपायुक्तों से कहा कि हर जिले में मॉनिटरिंग कमेटी बनाएं और उसकी डेली रिपोर्ट लें। प्राईवेट अस्पतालों के लिए रेमडेसिविर वैक्सीन के रेट फिक्स किए गए हैं, उनकी भी चैकिंग करें, कहीं भी ओवरचार्ज न हो, यह समय प्रोफिट कमाने का नहीं है। उन्होंने कहा कि जो लोग होम आईसोलेशन में हैं, आंगनवाड़ी व दूसरे वॉलिंटियर घर जाकर उनके भी स्वास्थ्य की जांच करें। सभी विभाग एक्टिव इन्वोल्वेमेंट रखें, जहां भी दिक्कतें आएंगी, उनको भी दूर करेंगे। वीसी में उपायुक्त धीरेन्द्र्र खडग़टा ने मुख्यमंत्री को जानकारी दी कि जिला में पिछले कुछ दिनों में जो केस बढ़े हैं वे स्कूलों से शुरू हुए थे, अब इस पर पूरा ध्यान दिया जा रहा है। उन्होंने बताया कि जिला में कोरोना से बचाव व ईलाज के लिए पर्याप्त इंतजाम हैं, इसके तहत 8 कन्टेनमेंट जोन बनाए गए हैं। डेडिकेटिड कोविड अस्पताल बनाया गया है, गैर कोविड गतिविधियों को सिविल अस्पताल में शिफ्ट कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि अस्पतालों में ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं है। उन्होंने कहा कि कोरोना से निपटने के लिए जिला प्रशासन पूरी तरह से अलर्ट है और सभी तैयारियां की गई हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

समाचार निर्देश न्यूज़पेपर के लिए आवश्यकता है पूरे भारत के सभी जिलो से अनुभवी ब्यूरो चीफ, पत्रकार, कैमरामैन, विज्ञापन प्रतिनिधि की। आप संपर्क करे मो० न० 9654140328
%d bloggers like this: