एटीएम से धोखाधड़ी से बचने के लिए स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) एक नया नियम लेकर आया है। अब, एसबीआई ग्राहकों को लेनदेन पूरा करने के लिए एटीएम से नकद निकालते समय वन-टाइम पासवर्ड (ओटीपी) दर्ज करना होगा।

लेकिन यह धोखाधड़ी के खिलाफ सुरक्षा की एक अतिरिक्त परत के रूप में एसबीआई एटीएम में एक लेनदेन में 10,000 रुपये या उससे अधिक की निकासी करने वाले लोगों के लिए लागू है।एसबीआई ने 26 दिसंबर, 2019 को ट्विटर पर यह घोषणा की है कि यह सुविधा 1 जनवरी, 2020 से सभी एसबीआई एटीएम पर लागू होगी। देश के सबसे बड़े ऋणदाता ने ट्वीट किया था, एटीएम पर अनधिकृत लेनदेन से आपको बचाने में मदद करने के लिए ओटीपी-आधारित नकद निकासी प्रणाली की शुरुआत। यह नई सुरक्षा प्रणाली 1 जनवरी, 2020 से सभी एसबीआई एटीएम पर लागू होगी।

एसबीआई समय-समय पर सोशल मीडिया और अन्य प्लेटफॉर्म के माध्यम से एटीएम धोखाधड़ी के बारे में जागरूकता पैदा करता रहा है।
ओटीपी एक सिस्टम-जनरेटेड चार अंकों का नंबर है, जो ग्राहक के पंजीकृत मोबाइल नंबर पर जाता है और यह केवल एक लेनदेन के लिए मान्य होता है।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.