टीबी समाप्त करना एक राष्ट्रीय कर्तव्य है टीबी समाप्त करने 2025 लक्ष्य निर्धारित हुआ है सभी लिंग पृष्ठभूमि को जन आंदोलन के साथ एक साथ मिलकर लाना संकल्प हुआ है 
महिलाओं में क्षय रोग पर राष्ट्रीय संसदीय सम्मेलन का हुआ है पुरुषों के समकक्ष की तुलना में महिलाओं की देखभाल कम हैं अध्ययनों से उज़गार हुआ है 
बिना लक्षण के मौजूद टीबी संक्रमण से सक्रिय टीबी में तब्दील होने के लिए उचित पोषण की कमी जोखिम भरा कारक है महिलाओं को पर्याप्त पोषण मदद मिले स्वीकार किया है 
सभी मिलकर बेहतर पोषण स्वच्छ हवा सुनिश्चित करने और बीमारी से जुड़े सामाजिक कलंक दूर करने का आग्रह सभी ने किया है टीबी भारत के लिए चुनौती हैं स्वीकार किया है 

लेखक – कर विशेषज्ञ, साहित्यकार, कानूनी लेखक, चिंतक, कवि, एडवोकेट किशन सनमुखदास भावनानी गोंदिया महाराष्ट्र

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.