• कहा, स्किल्ड अग्निवीरों को ग्रुप में नौकरी के मिलेंगे अवसर

नई दिल्ली – सेना में भर्ती के लिए ‘अग्निपथ’ योजना को लेकर देशभर में जहां विरोध-प्रदर्शन हो रहा है। वहीं, सरकार के बाद उद्योगपति भी इस योजना के फायदे गिनाने लगे हैं। इसी क्रम में महिंद्रा एंड महिंद्रा ग्रुप के प्रमुख आनंद महिंद्रा ने सोमवार को ट्वीट कर अपनी कंपनी में अग्निवीरों को नौकरी देने का ऐलान किया है।

आनंद महिंद्रा ने ट्वीट कर अग्निपथ योजना की खूबियां गिनाने के साथ कहा कि कॉरपोरेट क्षेत्र में अग्निवीरों के लिए रोजगार की अपार संभावनाएं हैं। नेतृत्व, टीम वर्क और शारीरिक प्रशिक्षण से युक्त युवा हमारे उद्योग को आगे बढ़ाने में अहम भूमिका निभाएंगे। इन युवाओं में संचालन से लेकर प्रशासन और आपूर्ति शृंखला प्रबंधन तक की क्षमता है। ऐसे में ‘अग्निपथ’ से वापस आने वाले ट्रेंड और क्षमता वाले अग्निवीरों को वह अपनी कंपनी में नौकरी देंगे।

दरसअल महिंद्रा से एक ट्वीटर यूजर्स ने पूछा था कि आखिर अग्निवीरों को महिंद्रा ग्रुप में नौकरी मिलेगी क्या ? इस सवाल के जवाब में आनंद महिंद्रा ने अपने ट्वीट में लिखा है कि ‘अग्निपथ’ योजना के खिलाफ हो रही हिंसा से बेहद दुखी हूं। जब इस स्कीम पर पिछले साल बात शुरू हुई थी। मैंने तब भी कहा था और अब फिर से ये रिपीट कर रहा हूं कि अनुशासित और स्किल्ड अग्निवीरों को नौकरी के बेहतर अवसर मिलेंगे। महिंद्रा ग्रुप ऐसे ट्रेंड और क्षमता वाले युवाओं को नौकरी करने के अवसर देगा।

उल्लेखनीय है कि अग्निपथ योजना के तहत सेना के तीनों अंगों में इस साल करीब 46 हजार अग्निवीरों की भर्ती होनी है। इस योजना के तहत भर्ती वाले उम्मीदवार की उम्र सीमा 17.5 वर्ष से 21 वर्ष तक के बीच है। हालांकि, इस साल के लिए इस भर्ती योजना में 2 साल की छूट भी दी गई है। यह भर्ती 4 सालों के लिए होगी, जिसके बाद परफॉर्मेंस के आधार पर 25 फीसदी अग्निवीरों को वापस से रेग्युलर कैडर के लिए नामांकित किया जाएगा।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.