• राजस्थान के भरतपुर जिले के गंगौरा गांव से हुई गिरफ्तारी।
  • निरीक्षक नरेश कुमार प्रभारी अपराध जांच शाखा नूंह के नेतृत्व गठित टीम ने सब्बीर उर्फ मित्तर को दबोचा।
  • उप पुलिस अधीक्षक, तावडू की हत्या के मामलें में संलिप्त दूसरे आरोपी इक्कर निवासी पचगांव को निरीक्षक सुरेन्द्र सिद्धु, प्रभारी अपराध जांच शाखा, तावडू के नेतृत्व में गठित टीम ने मुठभेड के बाद किया था गिरफ्तार।
  • मुकदमा में नामजद दोनो आरोपी चढे पुलिस के हत्थे, अन्य आरोपियों की तलाश। 

 

समाचार निर्देश शब्बीर तावडू – वरुण सिगंला पुलिस अधीक्षक नूंह ने प्रैसवार्त कर बतलाया कि दिनांक 19.07.2022 को सुरेन्द्र सिंह, उप पुलिस अधीक्षक, तावडू रोजाना की तरफ ईलाका में पैट्रोलिंग कर रहे थे कि उन्हे पचगांव थाना सदर तावडू की तरफ पहाड में अवैध माईनिंग होने की सूचना मिली । जिस सूचना पर उप पुलिस अधीक्षक, तावडू अपने स्टाफ सहित सूचना मिलने वाले स्थान पर पहुंचे तो पुलिस की पार्टी को देखकर एक डम्फर चालक अपने डम्फर को पहाड की तरफ लेकर भागने लगा।

उप पुलिस अधीक्षक, तावडू अपनी गाडी से डम्फर का पीछा कर रहे थे तभी डंपर वाले ने अपने डंपर को खाली करने लगा जिस कारण डीएसपी तावडू की गाड़ी रुक गई और डीएसपी साहब अपने स्टाफ सहित डंपर को रोकने के लिए उसके बराबर में चले गए उसको रोकने के लिए कहा परंतु उसमें बैठे किसी व्यक्ति ने यह कहा कि रोकना मत इनके ऊपर से गाडी चढाकर निकाल दे और डम्फर चालक ने अपने डम्फर को चला दिया । टक्कर लगने से उप पुलिस अधीक्षक, तावडू डम्फर के नीचे आ गये तथा डम्फर चालक अपने डम्फर को उप पुलिस अधीक्षक, तावडू के सिर के ऊपर से चढाकर पत्थरों को खाली करते हुये पहाड की तरफ भगाकर ले गया । जिससे सुरेन्द्र कुमार, उप पुलिस अधीक्षक, तावडू की मौका पर ही मौत हो गई है । जिस पर वरुण सिंगला, पुलिस अधीक्षक नूंह ने तुरन्त संज्ञान लेते हुये मौका मुआयना किया तथा थाना सदर तावडू में सम्बन्धित धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज कराया।

तत्पश्चात पुलिस अधीक्षक, नूंह ने अपराधियों की तलाश व उनको पकडने के लिये प्रभारी अपराध जांच शाखा तावडू प्रभारी निरीक्षक सुरेन्द्र सिद्धु एवम अपराध जांच शाखा नूंह प्रभारी निरीक्षक नरेश कुमार इत्यादि के नेतृत्व में 10 टीमों का गठन किया।

 

इसी सम्बन्ध में निरीक्षक सुरेन्द्र सिद्धु, प्रभारी अपराध जांच शाखा तावडू को गुप्त सूचना प्राप्त हुई कि उप पुलिस अधीक्षक, तावडू की डम्फर से टक्कर मारकर हत्या करने वाले आरोपी चीला, पचगांव पहाड में छुपे हुये हैं । जिस सूचना पर आरोपियान को पकडने के लिये बतलाये गये स्थान पर टीम द्वारा दबिश दी गई । पुलिस को देखकर आरोपियान द्वारा पुलिस पार्टी पर जान से मारने की नियत से सीधी फायरिंग की गई, टीम के जवानों ने बडी सूझबुझ से अपने आपको सुरक्षित करते हुये जवाबी फायरिंग की, जिसमें एक सख्श के घुटने पर गोली लगी व अन्य आरोपी मौका से भागने में कामयाब हुआ।

गोली लगने वाले शख्स से नाम पता पूछने पर अपना नाम इक्कर पुत्र सद्दीक निवासी पचगांव बतलाया । जिसे उपचार के लिये नल्हड मैडीकल कालेज, नूंह में एडमिट कराया गया । जिसे दिनांक 19.07.2022 को गिरफ्तार करके आज न्यायालय में पेश कर ओर अधिक गहनता से पूछताछ करने के लिये 5 दिन के पुलिस रिंमाड पर लिया गया ।

तत्पश्चात अपराध जांच शाखा नूंह निरीक्षक नरेश कुमार की टीम ने गुप्त सूचना के आधार पर उप-पुलिस अधीक्षक तावडू पर डंपर चढाकर हत्या करने के मुख्य आरोपी डंपर चालक सब्बीर उर्फ मित्तर पुत्र ईसाक निवासी पचगांव को राजस्थान के भरतपुर जिले के गंगौरा गांव से गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है।

पुलिस अधीक्षक नूंह ने बतलाया कि मुख्य आरोपी डंपर चालक सब्बीर उर्फ मित्तर के अलावा इक्कर निवासी पचगांव को गिरफ्तार किया जा चुका है अभी भी पुलिस को मामले में कई अन्य आरोपियों कि तलाश है । पकड़े गये मुख्य आरोपी डंपर चालक को कल न्यायालय में पेश कर रिंमाड पर लेने कि तैयारी है।

पुलिस अधीक्षक नूंह ने कहा कि रिंमाड अवधि के दौरान पूछताछ से ना केवल मुकदमें के अन्य आरोपियों की गिऱफ्तारी में पुलिस को मदद मिलेगी बल्कि इस पूरे नेटवर्क का खुलासा भी गिरफ्त में आये दोनों बदमाशों से पूछताछ के दौरान सम्भव हो पायेगा।

उप-पुलिस तावडू की हत्या की घटना को अंजाम देने के बाद मुख्य आरोपी डंपर चालाक सब्बीर उर्फ मित्तर कैसे राजस्थान के गंगौरा गांव तक पहुंच गया और किन- 2 लोगों उनकी इस दौरान मदद की इसका पता लगाने में पुलिस की टीमें लगी हुई है ।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.