समाचार निर्देश ब्यूरो एस डी सेठी – अगर आप राशनकार्डधारक हो और सरकारी राशन का लाभ उठाते हैं तो आपके लिए जरूरी खबर है। दरअसल राशन कोटेदार लोगों को कई बार तौल में गडबडी कर कम राशन दे देता है। इसलिए सरकार ने अब राशन दुकानों पर इलैक्प्ट्रोनिक पाईंट आफ सेल अनिवार्य कर दिया है। गौरतलब है कि राष्ट्रीय खाध सुरक्षा कानून ने राशन लाभार्थियों को सही मात्रा में राशन मिले, इसके लिए केंद्र सरकार ने राशन की दुकानों पर इलेक्ट्रॉनिक पांईंट आफ सेल (इपीओएस) उपकरणों को इलेक्ट्रॉनिक तराजू के साथ जोडना अनिवार्य कर दिया है। सरकार ने लाभार्थियों के लिए खाधान्न तौलते समय राशन की दुकानों में पारदर्शिता बढाने और घटतौली रोकने के लिए यह कदम उठाया है। राष्ट्रीय खाध सुरक्षा अधिनियम (एनएफएसए) के तहत सरकार देश के करीब 80 करोड लोगों को प्रति व्यक्ति प्रति माह 5 किलो गेहूं और चावल खाधन क्रमशः2-3 रूपये प्रति किलोग्राम की रियायती दर पर दे रही है। ईपीओएस उपकरणों से राशन देने वाले राज्यों को प्रोत्साहित करने के लिए 17.00 रूपये प्रति क्विंटल के अलावा मुनाफे से बचत को बढावा देने के लिए खाध सुरक्षा 2015 के उपनियम (2)के नियम 7 में संशोधन किया गया है। नये नियम के तहत पाईंट आफ सेल डिवाइस खरीदने के लिए और इसके रखरखाव ही लागत के लिए अलग से मार्जिन दिए जायेंगें। 

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.