समाचार निर्देश घरौंडा – 11 जून प्रवीण कौशिक कोहंड गांव में निर्माणधीन रेलवे पुल का निर्माण कार्य शुरू हो गया है। पुल के पूरा होने से जहां कोहण्ड असंध मार्ग से आने जाने वाले वाहन चालकों व् ग्रामीणों को सुविधा होगी वहीं रेलवे क्रासिंग व जाम से भी मुक्ति मिलेगी। शनिवार को विधायक हरविंदर कल्याण ने अधिकारीयों के साथ कोहंड निर्माणाधीन पूल का निरीक्षण किया विधायक ने बताया कि नए डिजाईन में रेलवे पुल का पिलर्स पर बनने वाला हिस्सा बढ़ाया गया है। डिजाइन में हुए बदलाव रेलवे ब्रिज लगभग ढाई सौ मीटर तक एलिवेटिड बनेगा जिससे ग्रामीणों व दुकानदारों की बड़ी समस्या दूर हुई है। रेलवे ब्रिज के डिजाईन में हुए बदलाव के कारण पुल का काम बीते करीब एक साल से बंद पड़ा था। कल्याण ने बताया कि अप्रैल 2023 तक रेलवे ब्रिज बनकर तैयार होगा। पुल का निर्माण कार्य शुरू होने से ग्रामीणों की बड़ी मांग पूरी हुई है। दिल्ली अम्बाला रेलमार्ग पर कोहंड रेलवे फाटक पर बनने वाला रेलवे आरओबी व आरयूबी सरकार द्वारा स्वीकृत किये गए मोडिफाईड डिजाइन के अनुसार बनेगा। विधायक हरविंदर कल्याण पीडब्ल्यूडी विभाग के एसई संदीप गोयल, एक्सईन संदीप कुमार, एसडीओ हरीश कौशिक व अन्य विभागीय अधिकारियों के साथ निर्माणधीन रेलवे ब्रिज की साईट पर पहुंचे और ग्रामीणों को पुल निर्माण शुरू किये जाने की जानकारी दी। विधायक ने कहा कि रेलवे पुल को लेकर ग्रामीण किसी के बहकावे में न आये। जो लोग पुल तोड़े जाने की अफवाहे फैला रहे है उनका मकसद सिर्फ राजनीति करना है। सरकार ने ग्रामीणों की मांग के अनुसार पुल बदलाव को मंजूरी दी है। कल्याण ने कहा कि तेजी के साथ पुल बनाने का काम होगा और आगामी आठ महीने में पुल बनकर तैयार हो जायेगा। विधायक कल्याण ने बताया कि रेलवे ब्रिज के पुराने डिजाईन में कई खामियां थी जिस बारे में ग्रामीण भी शिकायत कर चुके थे। पुराने डिजाइन में पुल का अधिकतर हिस्सा सॉलिड पोर्शन रखा गया था जिससे मार्किट के सैकड़ो दुकानदारों के लिए समस्या खड़ी हो जाती वही कोहंड से गांजबड़ जाने वाली सड़क की क्रासिंग भी काफी तंग थी। इन सब कमियों को दूर करने के लिए पुल का डिजाईन बदला गया। विधायक ने बताया कि नए डिजाईन के अनुसार जीटी रोड की तरफ पुल का एलिवेटिड हिस्सा 47 मीटर व गांव गुढ़ा की तरफ 67 मीटर बढ़ाया गया है। रेलवे पुल का एलिवेटिड भाग बढ़ाये जाने से पुल के दोनों तरफ ग्रामीणों व दुकानदारों को आवागमन में आसानी होगी और पार्किंग के लिए पर्याप्त जगह मिलेगी। वही गांजबड़ रोड के लिए भी पुल के नीचे लगभग तीस फिट चौड़ी क्रासिंग होगी। हरविंदर कल्याण ने बताया कि बरसाती सीजन में आरयूबी में जलभरव न हो इसके लिए अंडरपास को शेड से कवर किया जायेगा। अंडरपास में दो वाहनों की क्रासिंग आसानी से हो इसके लिए आरयूबी में बदलाव भी होगा। विधायक ने ग्रामीणों से कहा कि बरसात के दौरान कुछ दिनों तक उन्हें दिक्क़ते हो सकती लेकिन जल्द ही इस समस्या का भी स्थाई समाधान हो जायेगा। विधायक ने अधिकारियो के साथ निर्माणधीन ब्रिज का निरिक्षण किया और अधिकारियो को दिशा निर्देश भी दिए।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.