दक्षिणी पश्चिम जिले के स्वंम सहायता समूहों (SHG)के सदस्यों के सहयोग से जिला प्रशासन कापसहेड़ा व राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन साउथ वेस्ट ने दिल्ली सरकार, के SUP बैन को लेकर मेले के माध्यम से लोगो को जागरूक करने का प्रयास किया गया।
राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन साउथ वेस्ट द्वारा बनाये गए SHG सदसयो ने मिलकर पर्यावरण पर SUP के प्रभाव और इसके मौजूद ऑप्शनों के बारे में जागरूकता फैलाने में मदद करी। बता दें कि दक्षिण पश्चिम में करीब 150 से अधिक स्वयं सहायता समूह हैं। सिंगल यूज प्लास्टिक वाली वस्तुओं पर हाल ही में सरकार द्वारा लागू बैन के बारे में जागरूकता फैलाने के उद्देश्य से जिला स्तरीय विकल्प मेला आयोजित करने के लिए सभी जिला प्रशासन को आदेश दिए गए है । दिल्ली सरकार विभिन्न स्वयं सहायता समूहों के सदस्यों को ट्रेनिंग देगी ताकि ज़्यादा से ज्यादा लोगो को इस मुहिम में जोड़ा जा सके।
राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन के कम्यूनिटी ऑर्गनाइजर नवीन कोटिया ने बताया कि SHG के सदस्यों को जिले में पर्यावरण पर SUP के प्रभाव और इसके मौजूद ऑप्शनों के बारे में जागरूकता फैलाने में मदद करने के लिए तैयार किया जा रहा हैं।


मेले में लगभग 10 स्वयं सहायता समूहों ने ओर 2 कंपनियों ने हिसा लिया। मोके पर पहुँचे मुकुल मनराय SDM (मुख्यालय) ने बताया कि सरकार 1 जुलाई से देश भर में सिंगल यूज़ प्लास्टिक वस्तुओं के निर्माण, आयात, स्टॉकिंग, वितरण, बिक्री और उपयोग पर पूर्ण बैन लगा दिया गया हैं। SUP वस्तुओं में ईयरबड, गुब्बारे के लिए प्लास्टिक की छड़ें, झंडे, कैंडी स्टिक, आइसक्रीम स्टिक, पॉलीस्टाइनिन (थर्मोकोल), प्लेट, कप, गिलास, कांटे, चम्मच, चाकू, पुआल, ट्रे, निमंत्रण कार्ड, सिगरेट के पैकेट, 100 माइक्रोन से कम के प्लास्टिक या पीवीसी बैनर और रैपिंग या पैकेजिंग शामिल हैं। इनको रोकने व लोगो को जागरूक करने के डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट के आदेशानुसार आज 2 दिवसीय मेले का आयोजन वेगास मॉल द्वारका के सहयोग से किया गया। जल्दी ही सब्जीमण्डीयो ,बाजारों में भी स्टाल के माध्यम से थैला बिक्री केंद्र स्थापित किये जायेंगे जिसमे स्वंम सहायता समुहों की मदद ली जाएगी।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.