सिद्धार्थ राव  बहादुरगढ़ – जी डी गोयनका स्कूल बहादुरगढ़ ने एक और सराहनीय कदम उठाया, जिसके अंतर्गत विद्यालय की कक्षा पांचवीं से दसवीं तक के छात्र- छात्राओं को श्री बद्रिका आश्रम ( हिमाचल प्रदेश) ले जाया गया। यह एक शैक्षणिक भ्रमण रहा। जिसमें छात्रों को मानसिक, शारीरिक तथा आत्मज्ञान का बोध कराया गया। यह एक शैक्षणिक भ्रमण रहा जिसमें छात्रों को मानसिक, शारीरिक तथा आत्मज्ञान का बोध कराया गया। त्री दिवसीय यात्रा के अंतर्गत छात्रों ने श्री ओम स्वामी जी के सानिध्य में मैडिटेशन कर आध्यात्मिक बोध प्राप्त करने का प्रयास किया तथा पर्वतीय वातावरण के मध्य अनेकों एडवेंचर गतिविधि जैसे  जिपलाइन, वैली क्रॉसिंग, ब्रिज क्रॉसिंग ,लैडर तथा रॉक क्लाइंमिंग आदि को सराहनीय रूप से अंजाम दिया। छात्रों ने इन सभी गतिविधियों के साथ रिवर क्लीनिंग के अंतर्गत गिरि नदी की सफाई की और आंदोलन नीली क्रांति का हिस्सा बने। पुस्तक पठन सत्र के बाद पेंटिंग कंपटीशन में छात्रों ने उत्साह पूर्ण भागीदारी द्वारा विद्यालय का परचम लहराया इसी के साथ विद्यार्थियों ने कैडल मार्च कर एक कृतज्ञता वृक्ष बनाया तथा उस वृक्ष पर अपने भावों को अंकित कर कृतज्ञता व्यक्त की और धैर्य, संतोष, शांति आदि गुणों को अपनाने का संकल्प लिया। विद्यालय की प्राचार्या डॉ नवनीत कौर के सानिध्य तथा प्रस्ताव पर इस प्रकार के यात्रा का आयोजन किया गया। इस  यात्रा के समायोजन उपरांत विद्यालय की निर्देशिका शैलजा जून ने कैंप के प्रत्येक प्रतिभागी को प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया। यह प्रमाण पत्र छात्रों को कैंप में की गई उनकी गतिविधियों और प्रतियोगिताओं के आधार पर प्रदान किए गए, जिससे छात्र प्रोत्साहित होकर अग्रसर हो।शैलजा जून ने यह भी कहा कि वह अपने इन छोटे-छोटे अथक प्रयासों के द्वारा केवल छात्रों को एक उज्जवल भविष्य प्राप्त करने की दिशा में मार्ग प्रशस्त करने का कार्य मात्र ही कर रही है जिसके द्वारा देश तथा राज्य को संस्कारी नागरिक प्राप्त होंगे।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.