• बिजली व्यवस्था न होने पर सोलर सिस्टम से बिजली उत्पादित कर के जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग ने जल जीवन मिशन योजना के तहत् पहुंचाया घर -घर नल से जलछज्जूपुर में नई पाईप लाईन लगाकर हर घर को दिया पेय जल कनेक्शन ।

समाचार निर्देश शब्बीर तावडू – खंड के गांव गोगजाका के अंतर्गत ढाणी छज्जूपुर के निवासियों का आखिर हर घर को नल से पेयजल का सपना साकार हो गया हैं! अब ढाणी छज्जूपुर के निवासियों को पीने के पानी के लिए दूर दूर तक जाने की मशक्कत नहीं करनी पड़ेगी पहले छज्जूपुर के निवासी पेयजल के लिए या तो दूर दूर तक पैदल जाते थे या फिर बरसात के मौसम में उनके लिए छज्जूपुर के पास में ही बने हुए तालाब से ही पेयजल उपलब्ध होता था इसी तालाब से उन्हे अपने मवेशियों के लिए भी पानी की व्यवस्था करनी पड़ती थी जिसके कारण उनके पास पर्याप्त पेयजल नहीं रहता था लेकिन अब भविष्य में मवेशियों के लिए तालाब में भी पर्याप्त बारिश का पानी रहेगा और जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग द्वारा लगाए ट्यूबवेल से उनकी बस्ती को पीने की पूर्ति भी होगी। गौरतलब है की सोहना तावडू सड़क से लगभग 2 किलो मीटर अंदर जाकर अरावली की पहाड़ी पर क्रेशर जॉन के पास साल 1990 से बसी लगभग 40 घरों की बस्ती को पहले पीने के पानी के लिए बड़ी परेशानी थी! इतना ही नहीं वहा नाही कोई सड़क ढंग से बनी हैं और न ही बिजली की व्यवस्था है जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग ने जल जीवन मिशन योजना के तहत् संघान लेकर छज्जूपुर की ढाणी में ट्यूबवेल लगवा कर सोलर सिस्टम से उस ट्यूबवेल को चलाने की व्यवस्था की इसके बाद सभी घरों तक जल जीवन मिशन योजना के तहत् लाईन लगाकर हर घर में पेयजल कनेक्शन करवाया गया जिससे ढाणी छज्जूपुर की महिलाओं को को दुर दुर तक पानी लाने के बजाय पेयजल मिल रहा हैं!

इस से ग्रामीणों में खुशी की लहर हैं! 100/ से भी अधिक लोगों की बस्ती छज्जूपुर निवासी बिस्मिल्ला, रिहाना, अंजुम, मीना मेमुना तथा आरिफा ने बताया की पीने का पानी लाने के लिए पहले उनको दूर दूर तक जाना पड़ता था! जिससे उनका काफी समय बर्बाद होता था और उनके घरेलू कार्य भी प्रभावित होते थे और वो अपने बच्चो को इसी काम में लगा कर रखते थे! जिससे उनके बच्चे पढ़ भी नही सकते थे! आमीन व फज्जर खां ने बताया की पहले ग्रामीण व उनके मवेशी वापस में ही बने तालाब में इकट्ठे हुए पानी पर निर्भर थे! बरसात का पानी पर्याप्त नहीं रहता तो उनको दूर दूर तक पानी लाना पड़ता था अब उनके मवेशियों के लिए तालाब का पानी पर्याप्त रहेगा! और उन्हें पानी की तलाश में इधर उधर भटकना नहीं पड़ेगा! जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के कार्यकारी अभियंता परदिप कुमार ने बताया की छज्जूपुर ढाणी के लिए बहुत कम समय में द्रुत गति से पेयजल की व्यवस्था की हैं! अब इस ढाणी के सभी घरों में पर्याप्त मात्रा में पीने का पानी जा रहा हैं! 100/ से भी अधिक लोगों के लिए 10hp की मोटर लगाकर सोलर सिस्टम की व्यवस्था की गई हैं! जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग की इकाई जल एवं स्वच्छता सहायक संगठन के जिला सलाहकार नरेन्द्र भारद्वाज व उनकी टीम ने घर घर जाकर ढाणी छज्जूपुर के निवासियों को पानी को बचाने की सिख भी दी है! उन्होंने ग्रामीणों से इस ट्यूबवेल के पानी को न वर्थ न बहाने की अपील की हैं। इस अवसर पर खंड संयोजक तावडू संदीप शर्मा, खंड संयोजक नूह मोहम्म्द जैकम पंप ऑपरेटर, राशिद सक्षम शाहिद शाहरुख व गणमान्य लोग मुख्य रूप से उपस्थित रहें।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.