नई दिल्ली, समाचार निर्देश अनीता गुलेरिया – विश्व-पर्यावरण-दिवस के अवसर पर द्वारका न्यायालय दक्षिण पश्चिम के (डीएलएसए) जिला विधिक सेवाएं प्राधिकरण द्वारा वृक्षारोपण समारोह का हुआ आयोजन । जिसमे द्वारका कोर्ट के वरिष्ठ न्यायाधीशो द्वारा वृक्षारोपण का हुआ शुभारंभ । बता दे,30 मई से यह वृक्षारोपित अभियान “पर्यावरण साक्षरता सप्ताह” की यह प्रक्रिया करीबन एक हफ्ता पहले से निरंतर जारी थी । डीएलएसए विभाग द्वारा चुनिंदा इलाकों में सैकड़ों की तादाद में पौधेरोपित किए गए । मुख्य जिला एवं सत्र न्यायाधीश मनोज जैन के मार्गदर्शन में इसको पूरी सार्थकता के साथ दिया गया अंजाम । उन्होने वहां उपस्थित लोगों को सम्बोधित करते हुए पर्यावरण की सुरक्षा के लिए वृक्ष लगाना हम सब की जिम्मेदारी है,से पूरी तरह से अवगत करवाया गया और प्लास्टिक को कम से कम उपयोग में लाने पर बल दिया गया ।इसी के साथ द्वारका डीएलएसए सचिव अनुराधा प्रसाद ने बड़े प्यार से गहनता-पूर्वक पौधे हमारे जीवन का मुख्य आधार क्यों है ? अनाथालय (स्वीट-होम) के बच्चों को पौधारोपण करने के गुणों से प्रेरित और सचेत किया । नुक्कड नाटक प्रस्तुतीकरण उपरांत द्वारका (डीएलएसए) सचिव अनुराधा प्रसाद द्वारा उर्जस्वी अंदाज मे सुगम व सहज कार्यप्रणाली जिसको अनाथालय में सभी उपस्थित-जनों ने उनकी इस सुगम कार्यशैली को बखूबी सराहा । बता दे, इस”पर्यावरण साक्षरता सप्ताह” को द्वारका कोर्ट परिसर,सेंट्रल जेल नं-1,डाबडी पुलिस स्टेशन,महावीर इंकलेव नगर निगम स्कूलो,कापासेहडा के अलावा अनाथालय (स्वीट-होम) के परांगण में किया गया वृक्षारोपण । पौधारोपण उपरांत डॉ.निदा रिज़वी द्वारा पर्यावरण कानूनो संबंधित विषय पर एक वर्चुअल वेबिनार किया गया । जिसमें पर्यावरण को लेकर गंभीर मुद्दों संबंधित चर्चा दौरान धरा पर्यावरण को हम कैसे संरक्षित रखें एक गहन-विषय रहा । राजधानी दिल्ली में वायु-प्रदूषण का बढता स्तर एक गंभीर-विषय जो सबके लिए गहन चिंतन-योग्य है । बिगड़ते जलवायु परिवर्तन में सुधार करने के लिए धरा की हरियाली को जीवंत रखना अत्यंत आवश्यक है । जिससे हम अपनी बुझती सांसों को मरघट की राह जाने से बचा सकते हैं और पौधारोपित करके हम अपनी आने वाली भावी पीढ़ी को पूरी तरह से संरक्षित कर सकते हैं । यदि हमे वातावरण को प्राकृतिक रूप से हरा-भरा रखना है,तो हमें प्लास्टिक और उससे बनने वाली वस्तुओं का जितना ज्यादा हो सके परित्याग करना ही बेहतर रहेगा । द्वारका (DLSA) डीएलएसए सचिव अनुराधा प्रसाद द्वारा यदि हमें अपने अपने वातावरण को प्राकृतिक रूप से हरा-भरा रखने के लिए प्लास्टिक और उससे बनने वाली वस्तुओं का परित्याग करने व जितना ज्यादा हो सके पेड़-पौधे लगाकर (हरित धरा क्रांति) पर बल दिया । इस तरह (पर्यावरण-साक्षरता सप्ताह) आयोजित समारोह अपने आप में एक सार्थकमयी स्वरूप धारण किए नजर आया ।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.