समाचार निर्देश एस डी सेठी – देश की राजधानी दिल्ली में वीआईपी अधिकारी त्यागराज स्टेडियम में कुत्ते को टहलाएं और खिलाडी  घर को जाये। फिर उनसे कैसे उम्मीद करें मैडलों की। भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) अधिकारी संजीव खेरवार और उनकी पत्नि रिंकू घुग्गा की शोसल मीडिया पर दबाकर  आलोचना हो रही है। वहीं मनीलांडरिंग और आय से अधिक संपत्ति के मामले में फंसी झारखंड की निलंबित आईएएस अफसर पूजा सिंगल के शाही ठाठ के बीच शोसल मीडिया पर कुछ ऐसे आईएएस अफसरों की तस्वीर वायरल है जो जमीन से जुडे हुए हैं। वह अपने ठाठ बाठ छोड  जनता के लिए काम करने में विश्वास करते हैं। ऐसे 4 आईएएस अफसरों के बारे में जिनकी तारीफ शोसल मीडिया पर वाह-वाही वायरल हो रही है। इनमें 2013 बैच की आईएएस अधिकारी कीर्ति जल्ली असम के बाढ प्रभावित इलाकों का दौरा करने गई थी। उस दौरान उन्होंने नंगे पांव कीचड में जाकर लोगों की मदद की। इन तस्वीरों के साथ संजीव खेरवार के साथ तुलना कर रहे हैं। 2013 की कीर्ति जल्ली अपनी  शादी के अगले दिन ड्यूटी ज्वाईन करके भी चर्चा में आईं थी। कीर्ति जल्ली दक्षिणी असम में पहली महिला आयुक्त हैं। इसी कडी में दूसरा नाम आईएएस अफसर उदयन मिश्र का नाम चर्चा में है। बिहार के कटियार के जिलाधिकारी उदयन मिश्र पिछले सप्ताह 235 पंचायतों में सूबे की संचालित योजनाओं का निरीक्षण करने पहूंचे उदयन मिश्र को एक स्कूल में बच्चौ को दी जाने वाली भोजन गुणवत्ता की जांच करने के लिए उन्होंने वैसे ही जमीन पर बैठकर खाना खाया । वहीं आईएएस संजीव खेरवार और उनकी पत्नी रिंकू घुग्गा पद का रौब गालिब कर कुत्ता घुमाने की खातिर वहां प्रैक्टिस को आये खिलाडियों को स्टेडियम से बाहर खदेड देते थे। सरकार ने दोनों आईएएस अफसरों की कंप्लट के बाद दोनों पति पत्नी का ट्रांसफर कर दिया है। पति को अरूणाचल  प्रदेश और पत्नि को लद्दाख भेज दिया है। सरकार को चाहिये कि जनता की सेवार्थ तमाम सुविधाओं और सैलरी से युक्त आईएएस अफसरों को विशेष प्रैक्टिस या ट्रेनिंग की जरूरत है।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.