कमाल हुसैन – कृषि विज्ञान केंद्र ऊझा के प्रांगण में धान की सीधी बिजाई पर प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य धान की सीधी बिजाई के लिए किसानों को प्रेरित करना है इससे पहले खरपतवार वह जल प्रबंधन की अनुदानित तकनीकों को अपनाकर जल संरक्षण को बढ़ावा देना। कार्यक्रम में जिले के लगभग 150 किसानों ने भाग लिया इस अवसर पर कृषि विज्ञान केंद्र के वरिष्ठ संयोजक डॉ राजवीर जी ने बताया कि धान की सीधी बिजाई से ना केवल पानी की बचत होती है बल्कि इसके साथ-साथ खेत तैयार करने में लगाने वाले खर्चे की भी बचत होती है। उन्होंने बताया कि सीधी बिजाई धान की सफलता व इससे जल संरक्षण संपूर्ण रूप से सफल खरपतवार नियंत्रण पर निर्भर करता है। डॉ सतपाल सिंह ने बताया कि हरियाणा सरकार द्वारा मेरा पानी मेरी विरासत के तहत धान की सीधी बिजाई करने वाले किसानों को वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी बशर्ते कि वे विभाग के पोर्टल पर पंजीकरण कराएं उन्होंने केंद्र की भी मुख्य गतिविधियों पर भी चर्चा की। इस मौके पर केंद्र के वैज्ञानिक डॉ राकेश अग्रवाल, डॉक्टर मोहित, डॉक्टर सुनील आदि ने भी अपने-अपने विचार की सांझा किए

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.