• भरतपुर में शादी की खुशी मातम में बदल गई. सात फेरों के बाद दो बहनों को दहेज की खातिर ससुरालीजन छोड़ कर चले गये. घटना बयाना थाना क्षेत्र के गांव सिकंदरा की है

  गिरीश जौहरी ब्यूरो चीफ भरतपुर संभाग – भरतपुर में सात फेरों के बाद दो बहनों को दहेज की खातिर ससुरालीजन छोड़ कर चले गये. घटना बयाना थाना क्षेत्र के गांव सिकंदरा की है। दो चचेरी बहनों की शादी में हर तरफ खुशी का माहौल था।  घर में सभी रिश्तेदार आए हुए थे।  बारात में रात को बारातियों ने खाना खाया। सात फेरों के बंधन में बंधने की रस्म पूरी हुई।  दुल्हन बनी दोनों बहनों की आज सुबह डोली उठनी थी। मगर विदाई के समय शादी की खुशियां मातम में बदल गई। 

  • विदाई के समय दहेज लोभियों ने रख दी अजीब मांग

5 लाख रुपये और बाइक की मांग दूल्हे पक्ष के लोगों ने रख दी। दुल्हन पक्ष के लोगों ने मांग पूरी करने में असमर्थता जताई।  नाराज होकर दुल्हा पक्ष बिना विदाई कराए दुल्हनों को छोड़ गया।  घटना से आहत परिजन दोनों दुल्हनों को लेकर बयाना थाने पहुंचे और दहेज लोभियों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई। बताया गया है कि सुषमा भारती और चचेरी बहन राजकुमारी की शादी गांव रामपुरा, थाना गढ़ी बाजना निवासी गौरव और पवन दोनों भाइयों के साथ हुई थी। 

  • नहीं पूरी होने पर दुल्हन छोड़कर भागे ससुरालीजन

दुलहन पक्ष की तरफ से दहेज में एक बाइक, सोने चांदी के जेवर, घर गृहस्थी के सामान और फर्नीचर दिए गए थे। आज सुबह दुल्हनों की विदाई के समय 21 हजार रुपए नकद थाली में डाले गए। आरोप है कि लड़कों के पिता जल सिंह और उदयसिंह ने 5 लाख रुपये, दो सोने की जंजीर, दो सोने की अंगूठी और बाइक दहेज में मांगे। दुल्हन सुषमा भर्ती ने बताया कि बारात रामपुरा से आई थी। ससुराल पक्ष 5 लाख रुपये, दो सोने की जंजीर, दो सोने की अंगूठी और बाइक नहीं मिलने पर बिना विदाई कराए चला गया। 

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.