समाचार निर्देश – भारतीय जनता पार्टी की पूर्व नेता नुपुर शर्मा इन दिनों सुर्खियों में है। दरअसल एक न्यूज चैनल टाईम्स नाऊ नवभारत पर डिबेट के दौरान नुपुर ने एक मौलाना के सवाल पर बयान दिया था। और उसके बाद भारी हंगामा हुआ और अभी भी जारी है। लेकिन नुपूर के ब्यान पर सऊदी अरब के मौलाना अस्सीम अल हकीम ने ट्वीट किया है कि जो मौलाना फयाज नाम के यूजर ने ट्वीट कर पूछा था। फयाज के सवाल पर ट्वीट करते हुए मौलाना अल हकीम ने कहा कि यह सौ फीसदी सच है। इसके बाद अमांडा फ्यगेरा नाम की महिला पत्रकार ने अल हकीम से पूछा तो इसका भी जवाब हां में दिया। ज्ञात हो कि ज्ञानवापी शिवलिंग मामले में 26 मई 2022की शाम टाईम्स नाऊ पर बहस हुई थी। इस डिबेट में नूपूर ने ज्ञानवापी के शिवलिंग पर मजाक बनाने वाले से सवाल किया था कि जैसे उनके भगवान का मजाक उड रहा है क्या वो भी दूसरे मजहब पर इस तरह बात रख सकती है। वहीं फिर उसके बाद कुरान और हदीसों का हवाला देकर नुपूर ने अपनी बात दमदार तरीके से रखी थी। बस यहीं से विरोध की ज्वाला धधक उठी। कई जगह हिंसक घटनाएं हुई। सरकारी, व लोगों की दुकान मकान वाहन आदि को आग के हवाले कर दिया गया। ये ही नहीं अरब देश के प्रमुखों ने भी भारत सरकार के खिलाफ बयान दिया था। उसके दबाव में बीजेपी को नुपुर शर्मा, नवीन कुमार जिंदल को पार्टी से निलंबित करना पडा था।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.