नई दिल्ली, समाचार निर्देश अनीता गुलेरिया – बाहरी उतरी डीसीपी बृजेंद्र कुमार यादव द्वारा चलाए (हॉक-आई) अभियान तहत स्थानीय पुलिस के अलावा विशेषकर पुलिस टीमे कुख्यात मुजरिमों की आपराधिक गतिविधियों पर लगातार खुफिया नजर रखती आ रही है । इसी संदर्भ में विशेष तौर पर स्पेशल स्टाफ की एक टीम कुख्यात आपराधिक गिरोह व उनके शार्प शूटरों की धरपकड़ के भरसक प्रयास मे लगी है । इसी क्रम दौरान स्पेशल स्टाफ के हवलदार अनिल नरवाल को गैंगस्टर नीरज बवानिया के पिता की हत्या की योजना के संबंध में गुप्त-सूचना मिली । इस जानकारी को आला अधिकारियों से सांझा किया गया डीसीपी बृजेंद्र कुमार यादव के दिशा निर्देशानुसार एसआई परवीन,जगबीर, हेड कांस्टेबल नरेंद्र,अनिल,संदीप कांस्टेबल जितेंद्र,सोहित मुकेश की टीम ने बिना समय गवाएं तत्परता दिखाते हुए बताए गए पते पर जाल बिछाकर सूचना-धारक के इशारा करते ही घेराव कर गोगी गैंग के दो नाबालिग शार्प-शूटरो को घेराव कर दबोच लिया । मौके पर तलाशी दौरान दो अत्याधुनिक सेमी-ऑटोमैटिक पिस्तौल व बीस जिंदा कारतूस जब्त करके दोनो को पुलिस हिरासत में ले लिया । पुलिस पूछताछ दौरान दोनों नाबालिग शूटरो ने अपना गुनाह कबूलने उपरांत बडे खुलासे दौरान बताया हाल में ही गांव खेडा-खुर्द में गोगी गिरोह के खूंखार गैंगस्टर कपिल उर्फ कल्लू खेड़ा के (55) वर्षीय पिता की कई लोगों द्वारा गोली मारकर हत्या कर दी गई थी । सूत्रों मुताबिक नीरज बवानिया और टिल्लू ताजपुर-परवेश मान गैंग के सदस्यों ने दिन-दिहाडे इस खूनी हत्या वारदात को अंजाम दिया गया था । जिसमें नरेला औद्योगिक क्षेत्र पुलिस द्वारा सीसीटीवी कैमरे में कैद आरोपी पवन उर्फ पोना और अमित उर्फ मीतू की पहचान कर ली गई है । इस हत्या का बदला लेने के लिए कब कपिल उर्फ कल्लू के कहने पर गोगी गिरोह में बजीतपुर के सक्रिय गैंगस्टर हितेश उर्फ हैप्पी के निर्देश पर विवेक और डोनी द्वारा नीरज बवानिया के पिता की हत्या करने के लिए दोनो नाबालिग शार्प-शूटरों को यह अत्याधुनिक हथियार मुहैया करवाए गए थे । और आज वह नीरज बवानिया के पिता की हत्या को अंजाम देने वाले थे लेकिन स्पेशल स्टाफ की चौकस निगरानी के चलते पकड़े गए । दोनों आरोपित नबालिग शार्प-शूटरो को कानून न्याय संगत अनुसार आगे की कार्यवाही के लिए (किशोर न्याय बोर्ड) समक्ष पेश किया जा रहा है । इस तरह बाहरी उत्तरी स्पेशल स्टाफ ने (हाक-आई) अभियान को सकारात्मक अंजाम देते हुए इलाके में होने जा रहे (खूनी गैंगवार) को नाकाम करके एक बड़ी सफलता को हासिल कर काबिले-तारीफ कार्यशैली को दिया अंजाम ।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.