नई दिल्ली रमेशचंद्र व्दिवेदी – चुनना अयोग की चुनाव अधिसूचना जारी होने के बाद राष्ट्रपति पद के 11 उम्मीदवारों के नामांकन न भरे गये जिसमें एक नामांकन पूर्ण न होने के कारण रद्द कर दियारा गया है ।इधर एनडीए ने अपना उम्मीदवार आदिवासी महिला द्रोपदी मुर्मूर को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाकर अन्य विरोधी पार्टियों का समर्थन लेने की ओर अग्रसर है । दूसरी ओर एनडीए टक्कर देने विरोधी पार्टियों का संगठन एक कर केन्द्र में अपनी ताकत बढ़ा कर एनडीए को सत्ता से बेदखल कर बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने 2024 लोक सभा चुनाव जीत कर सर्वर को प्रधानमन्त्री की कूर्सी पर बैठने के सपने साकार करने के उद्देश्य से माननीय अटल बिहारी वाजपेई के शासन काल में वित्तमंत्री और बाद में विदेश मंत्री के कुशल प्रशासक तथा प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के कट्टर विरोधी श्री यशवंत सिन्हा को विपक्ष पार्टी की ओर से राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाया गया है। इसके पूर्व ममता बनर्जी ने दिल्ली की बैठक में 22विपक्ष पार्टियों को आमंत्रित की थी लेकिन मात्र17पार्टिया सम्मलित हुई । इनमें राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के लिए डाक्टर मनमोहन सिंह , शरद पवार,,फारुख तथा देवगौड़ा के नामों पर विचार किया गया , लेकिन एनडीए के सामने जीत पाना मुश्किल दिखाई देखते हुए सबंने राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनने से साफ इंकार कर दिया था ।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.