• विधायक राजेंद्र सिंह जून बोले, रोजगार देने की बजाय युवाओं को नशे की तरफ धकेल रही सरकार


सिद्धार्थ राव, बहादुरगढ़ – कांग्रेस की हुड्डा सरकार में देश के अन्य राज्यों से हर क्षेत्र में नंबर वन पर रहने वाला हरियाणा प्रदेश जन विरोधी खट्टर सरकार के 7 वर्ष से ज्यादा के कार्यकाल में सभी क्षेत्र में देश के अन्य राज्यों से पिछड़ गया है, जिसके लिए खट्टर सरकार पूर्ण रूप से जिम्मेदार है। यह बात कांग्रेस विधायक राजेंद्र सिंह जून ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कही। विधायक राजेंद्र सिंह जून ने बृहस्पतिवार को सेक्टर 2 स्थित कार्यालय पर जन समस्याएं सुनी । विधायक ने जनसमस्याएं सुनने के दौरान संबंधित विभागों के अधिकारियों को फोन करके समस्याओं का समाधान करने के निर्देश दिए। जन समस्याएं सुनने के उपरांत मौजूद पत्रकारों से बातचीत करते हुए विधायक राजेंद्र सिंह जून ने कहा कि प्रदेश की जनता  चिकित्सा, शिक्षा, मूलभूत सुविधाओं की कमी से परेशान है। सरकारी स्कूलों में एक तरफ जहां पढ़ाई के लिए कमरों व अन्य संसाधनों की कमी है वही शिक्षकों की भी भारी कमी है।  सरकारी अस्पतालों में लचर सुविधाएं किसी से छुपी हुई नहीं है। अस्पतालों में डॉक्टरों व पैरा मेडिकल स्टाफ की कमी के साथ-साथ आमजन को दवाइयों की कमी का सामना भी धरातल पर करना पड़ रहा है। भीषण गर्मी के मौसम में बिजली कटौती से आमजन बेहाल है।  योजनाओं, सुविधाओं व विकास के नाम पर खट्टर सरकार सिर्फ चिकनी- चुपड़ी बयानबाजी कर आमजन को बरगलाने में लगी हुई है। आमजन सरकारी योजनाओं का लाभ पाने के लिए सरकारी कार्यालयों के चक्कर काटने को मजबूर है। 

  • शराब से खजाना भरने की बजाय युवाओं को रोजगार दे सरकार

विधायक राजेंद्र सिंह जून ने खट्टर सरकार की शराब नीति की कड़ी निंदा करते हुए कहा कि हरियाणा की जन विरोधी भाजपा- जजपा सरकार युवाओं को रोजगार देने की बजाय खजाना भरने के चक्कर मे युवाओं को नशे की ओर धकेलने का काम कर रही है। खट्टर सरकार का ध्यान सिर्फ शराब से आने वाले टैक्स में इजाफा करने का हैं जबकी बेरोजगारी के कारण युवा हताश व निराश है। सरकार को शराब के ठेकों की बजाय युवाओं के लिए रोजगार उपलब्ध करवाने पर फोकस करके राज धर्म निभाना चाहिए । उन्होंने कहा कि बीजेपी ने अपने विधानसभा चुनावी घोषणा पत्र में प्रदेश के युवाओं से वादा किया था कि सत्ता में आने पर बीजेपी सरकार हरियाणा में हर वर्ष 2 लाख युवाओं को सरकारी नौकरी देंगे और इस हिसाब से खट्टर सरकार के 7 साल से ज्यादा के कार्यकाल में प्रदेश के 14 लाख युवाओं को सरकारी नौकरी मिलनी चाहिए थी। मगर हुआ इसके विपरित। रोजगार देने की बजाय खट्टर सरकार पहले से लगे हुए कर्मचारियों को ही हटाने का काम कर रही हैं। विधायक ने कहा कि खट्टर सरकार के निकम्मेपन की वजह से आज हरियाणा प्रदेश बेरोजगारी के मामले में पूरे देश में नंबर वन पर बना हुआ है। विधायक राजेंद्र सिंह जून ने कहा कि हरियाणा प्रदेश का युवा व आमजन आज आशा भरी निगाहों से कांग्रेस पार्टी की तरफ देख रहा है। हरियाणा में जनता के जनादेश से अगली सरकार कांग्रेस पार्टी की बनेगी और भूपेंद्र सिंह हुड्डा तीसरी बार प्रदेश के मुख्यमंत्री बनकर युवाओं के लिए सरकारी नौकरियों के दरवाजे खोलने के साथ-साथ हरियाणा प्रदेश को शिक्षा, चिकित्सा, मूलभूत सुविधाओं, विकास सहित सभी क्षेत्र में नंबर वन प्रदेश बनाने का काम करेंगे।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.