समाचार निर्देश नई दिल्ली : बीते 38 वर्षाे से 1984 कत्लेआम पीड़ितों की लड़ाई लड़ते आ रहे कुलदीप सिंह भोगल का तख्त पटना साहिब कमेटी द्वारा सम्मान किया गया। तख्त साहिब के जत्थेदार सिंह साहिब ज्ञानी रणजीत सिंह गौहर ए मस्कीन, अध्यक्ष जत्थेदार अवतार सिंह हित, वरिष्ठ उपाध्यक्ष जगजोत सिंह सोही, उपाध्यक्ष एवं धर्म प्रचार के चेयरमैन लखविन्दर सिंह, सचिव हरबंस सिंह खनूजा, सदस्य गुरविन्दर सिंह एवं मीडीया प्रभारी सुदीप सिंह के द्वारा जत्थेदार कुलदीप सिंह भोगल को सिरोपा, कृपाण एवं स्मृति चिन्ह भेंट किया गया। तख्त पटना कमेटी के अध्यक्ष जत्थेदार अवतार सिंह हित ने कहा जत्थेदार कुलदीप सिंह भोगल उनके पुराने साथी भी हैं और उन्होंने 1984 कत्लेआम के दर्द को झेला भी है, इस कत्लेआम के दौरान उनके पारिवार का काफी नुकसान भी हुआ मगर कुलदीप सिंह भोगल ने तब से लेकर आज तक पीड़ितों के लिए लड़ाई लड़ी और कातिलों को सजाएं दिलाने हेेतु दिल्ली सहित कानपुर और बोकारों में अपने दम पर बिना किसी संस्था के सहयोग से इस लड़ाई को लड़ा और उसी के परिणाम स्वरुप आज कानपुर और बोकारों में भी 38 वर्ष बाद कातिलों को सजाएं होने लगी है। जत्थेदार हित ने कहा पर एक बात का अफसोस है कि आज कई ऐसे लोग जिनका इस संघर्श से दूर दूर तक कोई वास्ता ही नहीं है वह भी इसका श्रेय लेते हुए दिखाई दे रहे हैं। जत्थेदार अवतार सिंह हित ने कहा कि कुलदीप सिंह भोगल ने तख्त पटना साहिब कमेटी से बोकारो में कातिलों को सजाए दिलाने हेतु सहयोग की मांग की है जिसे मंजूर करते हुए उन्हें आश्वस्त किया गया कि तख्त साहिब की कमेटी जत्थेदार कुलदीप सिंह भोगल की हर संभव मदद करेगी ताकि कत्लेआम के दोषियों को सजाएं करवाई जा सकें।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.